Latest new hindi shayari

ShayariBazaar.Com आपके लिए लेकर आया है Love Shayari in hindi|लव शायरिस जो आपको पसंद आएँगी और अगर आप चाहते है की हम आपके बताये हुए शायर की शायरिया लिखे तो आप हमें कमैंट्स में लिख सकते है ! ये है हिंदी शायरी | Latest new hindi shayari  जो आप अपने दोस्तों को शेयर कर सकते है!

shayaribazaar

अधिक नहीं , वे अधिकतर की बात करते हैं !
नदी को छोड़कर समंदर ही बात करते हैं !!

हमारे दौर में इंसान का अकाल रहा !
ये लोग फिर भी पयंबर की बात करते हैं !!

जिन्हे भरोसा नहीं है स्वयं की मेहनत पर !
वे रोज ही किसी मंत्र के बात करते हैं !!

नहीं है नीव के पत्थर का जिक्र जिनके यहां !
ये बेशकीमती पत्थर की बात करते हैं !!

ये अफसरी भी मनोरोग बन गई आखिर !
वो अपने घर में भी दफ्तर की बात करते हैं !!

मैं कैसे मान लूं वो लोग हो गए हैं निडर !
जो बार-बार किसी डर की बात करते हैं !!

वो अपने आगे किसी और को नहीं गिनते !
वो सिर्फ अपने ही शायर की बात करते हैं !!


उड़ान भर हवाओं में या गोता लगा समुंदर में !
तुझको उतना ही मिलेगा जितना लिखा मुकद्दर में !!

                                                                          ————-*************—————-

झुकता वही है जिनमें जान है !
अकड़े रहना मुर्दों की पहचान है !!

                                                                          ————-*************—————-

हालात के कदमों पर कलंदर नहीं गिरता ,
टूटे भी यह तारा तो जमीन पर नहीं गिरता !
गिरते हैं समंदर में बड़े शौक से दरिया ,
लेकिन किसी दरिया में समंदर नहीं गिरता !!

                                                                          ————-*************—————-

shayribazaaar.com

कैसी हसीन आज बहारों की रात है ,
एक चांद आसमां पर एक मेरे पास है !
देने वाले तूने कोई कमी ना की ,
किसको क्या मिला यह मुकद्दर की बात है !!

                                                                          ————-*************—————-

इंसानियत है इश्क है उल्फत है जिंदगी !
नफरत दिलों में हो तो क़यामत है जिंदगी !!

                                                                        ————-*************—————-

वक्त को जिसने नहीं समझा उसे मिटना पड़ा !
बच गया तलवार से तो फूल से कटना पड़ा !!

                                                                       ————-*************—————-

इंसान को इंसानियत के तराजू से तौलिए !
दो शब्द ही सही मगर प्यार से तो बोलिए !!

                                                                      ————-*************—————-

रोशनी मिले अगर अंधेरे को ,
आदमी तरसे नहीं सवेरे को !
मजबूर ना रहे दुनिया में कोई ,
आओ रोशन करें बसेरे को !!

                                                                     ————-*************—————-

मेरा हर चलन निराला है ,
मेने हर गम को खुशी में ढाला है !
जिन हादसों से लोग डरते हैं ,
उन हादसों ने मुझे पाला है !!

                                                                        ————-*************—————-

चांदी की तलवार से जो कत्लेआम करते हैं !
इस जहां में लोग उन्हें झुक कर सलाम करते हैं !!

                                                                        ————-*************—————-

जज्बात दिलों के बह ना जाएं ,
हम अकेले कहीं रह ना जाए !
रोक देना कदम जो डगमगाए ,
आवारा हमें कोई यह न जाए !!

                                                                     ————-*************—————-

दुआ फिर भी यही है कि तुझे खुशियां ही मिले !
क्योंकि तुझे दुखी देखकर दिल तो हमारा ही जलेगा !!

                                                                      ————-*************—————-

देने वाले ने तो सबको दिया !
मगर किसको क्या मिला यह मुकद्दर की बात है !!

                                                                     ————-*************—————-

सुनहरी धूप बरसात के बाद ,
थोड़ी सी हंसी हर बात के बाद !
उसी तरह से मुबारक हो आपको ,
यह नई सुबह कल रात के बाद !!

                                                                        ————-*************—————-

बिना लिबास आए थे इस जहां में !
‎एक कफ़न की खातिर इतना सफ़र करना पड़ा !!

                                                                         ————-*************—————-

कुछ तो फूल खिलाए हमने ,
और कुछ फूल खिलाने हैं !
मुश्किल यह है कि बाग में अब तक ,
कुछ कांटे पुराने हैं !!

                                                                        ————-*************—————-

मेरे जुनूं का नतीजा ज़रूर निकलेगा !
इसी स्याह समुंदर से नूर निकलेगा !!

                                                                       ————-*************—————-

कश्ती चलाने वालों ने जब हार कर दी पतवार हमें ,
लहर लहर तूफान मिले और मौज मौज मजेदार हमें !
फिर भी दिखाया है हमने और फिर यह दिखा देंगे सबको ,
इन हालातों में आता है दरिया करना पार हमें !!

                                                                          ————-*************—————-

 

यह हुस्न यह अदा यह नजाकत यह आंखें सब खूबियां हैं मगर बेवफा है तू पिछले बरस था खौफ मुझे खो ना दूं तुझे अब के बरस यह है तेरा सामना ना हो

दुनिया में कई ऐसे नादान होते हैं कश्ती वही दे जाते हैं जो तूफान होते हैं

वह है सलामत तो अदावत गुजरे हैं
दुश्मन को कभी जान से मारा नहीं करते
हम इश्क के ऐसे मुकाम सेका मजा है
नफरत सी हो गई है मोहब्बत के नाम से

नसीब की महफिल में बेवफाई का दरवाजा खुल गया जो सोचा नहीं था कभी वह दोस्ती का तोहफा मिल गया

अनजान बनकर आए थे पहचान देकर चले गए यार बनकर आए थे प्यार देकर चले गए

आंखें बंद करके भी हम तेरा दीदार करते हैं ऐ सनम हम तो सिर्फ तुमसे प्यार करते हैं

लाख चाह कर भी मैं तुझे भुला नहीं सका सांस रहते तेरी तस्वीर आंखों से हटा ना सका

आखरी पल तक वह बेवफा तुझे याद करता हूं तेरी यादों को सीने में बसा कर चलता हूं

तुम अपनी आंखों की काली शाम मेरे नाम कर दो
फिर चाहे जो इल्जाम मेरे नाम कर दो

Leave a Reply